जोड़ों का दर्द दूर करने में कारगर है यह ये पांच आसन...

Ayurvedic Treatment of Joint Pain | how to relief from Joints | Joint Treatment जोड़ों का दर्द दूर करने में कारगर है यह ये पांच आसन

दोस्तों बढ़ती उम्र के साथ साथ हड्डियों का कमजोर होना उचित व्यायाम और खानपान में आवश्यक पोषक तत्व के अभाव से जोड़ों की तकलीफ बढ़ती है इससे कई बार दैनिक क्रिया में भी दिक्कत आती है | दवा से इस दर्द में कुछ समय के लिए आराम मिलता है पर प्राकृतिक तरीके से राहत के लिए जरूरी पोषक तत्व वाले आहार लेने के साथ-साथ कुछ योगासनों का नियमित अभ्यास करें इससे जोड़ों के दर्द से राहत मिलती है

जोड़ों के दर्द को ठीक करने के लिए आपको बहुत सारे मसाजर, तेल आदि मार्कीट में मिल जाएंगे लेकिन पैसे की खूब बर्बादी करने के बाद भी जोड़ों के दर्द से राहत नहीं मिलती। इसकी जगह पर अगर आप कुछ घरेलू नुस्खे अपनाएंगे तो इस दर्द से आपको जल्द राहत मिलेंगी। आज हम आपको जोड़ो को जोड़ो के दर्द को दूर करने के लिए कुछ आसन बता रहे हैं | इससे आपके जोड़ों का दर्द दूर भी होगा और आराम भी मिलेगा |

जानुशीर्षासन :-

दोस्तों इस आसान में पैरों को सामने की ओर सीधे फैलाते हुए बैठे रीड की हड्डी सीधी रखे बाया घुटना मोड़ने हुए बाएं पैर के तलवे को दाहिनी जांग के पास रखे गहरी सांस भरे हाथों को उठाए जाएं इस तरह देखे सांस छोड़ते हुए कूल्हों के जोड़ो जोर से आगे जो के पैरों के अंगूठे को पकड़े कोहनी जमीन पर लगाए |

तितली आसन :-

तितली आसन में दोनों पैरों को मोड़ कर बैठे पीठ बिल्कुल सीधी रखें घुटने मोड़े और उसे बाहर की तरफ रखें तलवे और पैरों की अंगुलियां एक दूसरे से अच्छी तरह मिलनी चाहिए हाथों से पैरों की अंगुलियां को पकड़े तितली के पंखों की तरह जांघो को धीरे धीरे हिलाए शुरुआत में पैर पूरी तरह से जमीन पर नहीं पहुंचता है लेकिन लगातार अभ्यास से पैर जमीन को छूने लगेंगे और आपको काफी आराम महसूस होगा |

पवनमुक्तासन :-

फर्ज पर शवासन मुद्रा में लेटकर बाएं घुटने को मोड़े पेट के पास ले जाए सांस छोड़ते हुए हाथों की उंगलियों को आपस में मिलाएं दाएं घुटने को नीचे रखते हुए बाएं घुटने से सीने को छूने की कोशिश करें और फिर जमीन से ऊपर उठाएं घुटने से नाक छूने की कोशिश करें सिर को ऊपर उठाने और नाक को घुटनों से छूने के बाद 10 से 30 सेकंड तक इसी मुद्रा में रहे और धीरे-धीरे सांस छोड़ें यह पूरी प्रक्रिया दाएं पैर से 3 से 5 बार दौरा है इससे आपको काफी आराम होगा |

अर्ध उष्ट्रासन : -

दंडासन की स्थिति में बैठ जाएं पैरों को घुटनों से मोड़कर वज्रासन की स्थिति में आए दोनों पैरों के बीच थोड़ा अंतराल रखे फिर घुटनों के बल खड़े हो पीछे से दोनों हाथों से सहारा दे सांस लेते हुए धीरे-धीरे पीछे की ओर चुके हथेलियों को तलवे तक ले जाएं थोड़ी देर इसी स्थिति में रुके इससे आपके जोड़ों का दर्द दूर होगा और आराम मिलेगा |

उत्कटासन :-

पैरों के बीच अंतराल रखे 45 अंश के कोण पर घुटनों को मोड़े रीड वह सिर को सीधा रखें सांस खींचते हुए पंजों केबल एड़ियों को उठाए हाथ सामने फैलाए रखें इसके बाद एक हाथ दूसरे पर रख कर ठोड़ी पर टिका दे सांस छोड़ते हुए नितंबों को एड़ियों पर टिकाए धीरे-धीरे सांस ले और छोड़े ऐसी स्थिति में 15 से 30 सेकंड तक बने रहे |

सावधानी :-

इन योगासनों को करने से पहले दैनिक प्रक्रिया से निवृत हो लें 1 से 2 गिलास गर्म पानी जरूर पीएं बिना विशेषज्ञ की सलाह निगरानी के नए करें शुरू में एक से तीन बार अभ्यास करें जितना संभव हो घुटनों को उतना ही मोड़े जबरन कोशिश ना करें

FOLLOW @Easymyhealth